Skip to content

Credit Card Company पैसा कैसे कमाती है

  • Oliver 
Credit Card Company

दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक और नई पोस्ट में जिसमें हम बात करेंगे कि Credit Card Company पैसा कैसे कमाती है आपको भी कभी ना कभी Credit Card Company की तरफ से मैसेज या कॉल आते होंगे कि क्रेडिट कार्ड बनवा लो

वह आपको कॉल में बताते हैं कि इसके बहुत सारे बेनिफिट है जैसे कि आपके पास मौके में पैसे नहीं है तो आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा शॉपिंग कर सकते हैं इससे आपको ना कि कई तरह के डिस्काउंट और छूट भी मिलती है अगर आप उस पैसे को 30 से 45 दिन के अंदर क्रेडिट कार्ड को वापस कर देते हो तो इससे आपको कोई भी ब्याज नहीं लगता

Credit Card Company पैसा कैसे कमाती है

तो अक्सर आपके दिमाग में एक सवाल आता होगा कि आखिर इनको इन सब से फायदा कैसे होता है और यहां इन से पैसे कैसे कमाते हैं आखिर यह लोग हमारे क्यों इतना पीछे पड़े रहते हैं तो दोस्तों चलिए जानते हैं कि Credit Card Company पैसा कैसे कमाती है 

क्रेडिट कार्ड को देने के लिए तीन पार्टी होती है जिसमें सबसे पहली है बैंक जो आपको क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराता है और दूसरा है मर्चेंट बैंक जिसकी मशीन  क्रेडिट कार्ड को लेती है जिस मशीन पर आप क्रेडिट कार्ड को स्वाइप किया जाता है और इसमें थर्ड पार्टी है नेटवर्क

Also Read – Netflix पैसा कैसे कमाता है

नेटवर्क क्या होता है कि आप अलग-अलग क्रेडिट कार्ड में देखेंगे कि किसी में वीजा लिखा होता है किसी में मास्टर कार्ड लिखा होता है और किसी किसी पर अमेरिकन एक्सप्रेस लिखा होता है यहां नेटवर्क होते हैं जो कि क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने वाले बैंक और मर्चेंट बैंक के बीच लिंक को बनाते हैं

नेटवर्क की आवश्यकता पड़ती क्यों है

भारत में बहुत सारे बैंक है और कुछ क्रेडिट कार्ड इंटरनेशनल क्रेडिट कार्ड भी होते हैं जिसमें आप इंडिया में बने क्रेडिट कार्ड को इंटरनेशनल शॉपिंग करने या अन्य चीजों में इस्तेमाल कर सकते हो यह सभी बैंक एक दूसरे से सीधा नेटवर्क नहीं बता सकते क्योंकि इसमें इन दोनों को बहुत ही ज्यादा कन्फ्यूजन हो जाएगा

तो यहां नेटवर्क दुनियाभर में बैंक के साथ मिलकर रहता है इसका काम ही है रहता है कि दूसरों बैंकों के बीच लिंक को बनाकर रखना इन तीनों पार्टी में सबसे ज्यादा पैसे जो कमाता है वह है क्रेडिट कार्ड देने वाला बैंक

Credit Card Company
Credit Card Company

क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने वाला बैंक

क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने वाला बैंक बहुत तरीके से पैसे कमाता है जैसे कि क्रेडिट कार्ड के ट्रांजैक्शन चार्जेस,  लेट पेमेंट चार्जेस, ईएमआई इंटरेस्ट चार्ज, कैश विड्रोल, ओवर लिमिट फीस, और एनुअल फीस आइए आप इन सब को एक एक कर के समझते हैं

1. ट्रांजैक्शन चार्जेस – जब भी हम अपने क्रेडिट कार्ड से कोई भी ट्रांजैक्शन करते हैं उदाहरण के लिए जैसे कि आप किसी मॉल में शॉपिंग करते हैं और आपने उस बिल का भुगतान क्रेडिट कार्ड के द्वारा किया तब जो वहां ट्रांजैक्शन होती है वहां पर क्रेडिट कार्ड देने वाले बैंक को 2% तक का लाभ होता है 

2. लेट पेमेंट चार्जेस – जब भी आप अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हो तो आपका महीने का बिल आपको क्रेडिट कार्ड पर आता होगा जिसकी पेमेंट करने के लिए आपको एक फिक्स टाइम दिया जाता है 1 महीना या 45 दिन का समय दिया जाता है अगर आप इस टाइम में उसका पेमेंट पूरा नहीं कर पाते हैं तो आपको महीने पर अच्छा खासा ब्याज लगाया जाता है

Also Read – Credit Score क्या होता है

3. ईएमआई इंटरेस्ट चार्ज – अगर आप कोई भी प्रोडक्ट की ईएमआई पर लेते हो तो उसमें आपको कुछ प्रतिशत का ब्याज देना होता है तो  यह भी इनका तरीका है एक पैसा कमाने का 

4. कैश विड्रोल – दोस्तों अगर आप भी अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल एटीएम से कैश विड्रोल करने के लिए करते हैं तो आपको बहुत सारे चार्ज देने होते हैं देखिएक्रेडिट कार्ड का मकसद ही होता है कि आपको शॉपिंग करने के लिए रुपए देना अगर आप इसको शॉपिंग के लिए ही इस्तेमाल करते हैं तो आपको तरह-तरह के डिस्काउंट भी मिल जाते हैं और अगर आप इसका इस्तेमाल कैश विड्रोल के लिए करते हो तो बैंक आपसे अच्छा खासा चार्ज वसूलता है

5. ओवर लिमिट फीस – अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हो तो उसमें आपको एक लिमिट दी जाती है कि आप इस लिमिट से ज्यादा खर्चा नहीं कर सकते और अगर आप उस क्रेडिट लिमिट से ज्यादा खर्च कर देते हैं तो उसके लिए भी आपको ओवरलिमिट फीस कंपनी को देना होता है 

6. एनुअल फीस – अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हो तो आपको साल की एनुअल फीस 500 रुपए तक देनी होती है जो कि एक सर्विस के तौर पर आप से चार्ज किए जाते हैं एनुअल फीस आपके क्रेडिट कार्ड पर निर्भर करती है कि आपके पास कौन सा क्रेडिट कार्ड है सभी क्रेडिट कार्ड के अलग-अलग एनुअल फीस होती है 

तो इसी तरह के चार्जर से क्रेडिट कार्ड कंपनी और क्रेडिट कार्ड देने वाले बैंक बहुत सारे पैसा कमाते हैं इसलिए बैंक क्रेडिट कार्ड को भेजने के लिए इतनी सारी मार्केटिंग करते हैं उम्मीद है आप सभी को यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको आर्टिकल पसंद आया है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं

Leave a Reply

Your email address will not be published.