ETF Exchange Traded Fund क्या होता है

ETF Exchange Traded Fund क्या होता है | ETF Exchange Traded Fund का क्या काम है 2022

दोस्तों आप सब ने म्यूचुअल फंड्स के बारे में तो सुना है और आप ही में से बहुत सारे लोग जो म्यूचल फंड में इन्वेस्ट करते हैं तो उन्होंने Exchange Traded Fund के बारे में भी सुना ही होगा लेकिन बहुत सारे लोगों को पता नहीं है कि ETF क्या होते हैं कैसे काम करते हैं और म्यूचुअल फंड से कैसे अलग है

ETF क्या होता है

बॉन्ड्स और स्टॉक मनी मार्केट का ही एक कलेक्शन होता है यह एक स्टॉक की तरह ही होता है जिसे आप बास्केट ऑफ सिक्योरिटीज भी कह सकते हैं जैसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में निफ्टी होता है जो अलग-अलग 50 कंपनियों के शेयर से मिलकर बनता है उसी तरह Exchange Traded Fund  मैं अलग अलग सिक्योरिटीज का कलेक्शन होता है

Nifty क्या होता है

स्टॉक मार्केट में बहुत सारी कंपनियां  रजिस्टर्ड है और आए दिन नई नई कंपनियां रजिस्टर्ड होते रहती है इससे यह अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है कि मार्केट किस दिशा में जा रहा है मार्केट का पता लगाने के लिए टॉप 50 कंपनियों किस शहर को लेकर एवरेज किया जाता है जिसे निफ्टी कहा जाता है

निफ्टी से म्यूच्यूअल फंड बिल्कुल अलग होता है जिसमें कंपनियां लोगों से पैसे लेकर अलग-अलग स्टॉक में निवेश करती है 

ETF Exchange Traded Fund क्या होता है
ETF Exchange Traded Fund क्या होता है

Exchange Traded Fund कैसे काम करता है

ETF में स्टॉक और म्यूचल फंड दोनों होते हैं इनको ज्यादातर स्टॉक मार्केट में शेर की तरह ही ट्रेड किया जाता है ETF फंड मेजर स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड होते हैं जहां पर इनको मार्केट के टाइम पर खरीदा और बेचा जा सकता है अगर इंडेक्स ऊपर नीचे होता है तो इसका प्रभाव ETF पर पड़ता है ETF का रिटर्न स्टॉक और इंडेक्स वैल्यू पर निर्भर करता है

जैसे म्यूचुअल फंड में कलेक्टिव इन्वेस्टमेंट होती है जहां पर कंपनी अपने पैसों को बांड और स्टॉक्स में ट्रेड करती है उसी तरह ETF मैं भी कलेक्टिव इन्वेस्टमेंट होती है लेकिन इसमें ऐसा है कि इसे आप किसी भी समय शेयर की तरह खरीद लिया बेच सकते हैं जोकि म्यूच्यूअल फंड्स में बिल्कुल ऐसा नहीं है

ETF Types 

भारत में ETF बिल्कुल नया है अभी लगभग 100 ETF है जो इक्विटी में है 

Equity ETFs – इसमें शेयर में निवेश किया जाता है या फिर इंडेक्स में निवेश किया जाता है और ज्यादातर कमोडिटी में निवेश किया जाता है जैसे निफ़्टी फिफ्टी, सेंसेक्स आदि 

Bond ETFs – यह कॉर्पोरेट और गवर्नमेंट बॉन्ड के लिए होते हैं किसमें पब्लिक सेक्टर यूनियन बॉन्ड में इन्वेस्ट किया जाता है 

Commodity ETFs – इसमें नेचुरल रिसोर्सेस में निवेश किया जाता है और एग्रीकल्चर जैसी स्टॉक्स में भी निवेश किया जाता है जैसे गोल्ड, मेटल, स्टील आदि

Currency ETFs – इसमें ग्लोबल करेंसी में निवेश किया जाता है जैसे डॉलर, यूरो और बहुत सारी करेंसी ओं में भी निवेश किया जाता है 

Inverse ETFs – इस फंड में मार्केट के ऑपोजिट साइड जाने से फायदा होता है जैसे अगर मार्केट डाउन जाता है तो इसमें आपको प्रॉफिट होता है

ETFs के फायदे

ETF काफी कम कीमत के होते हैं इसमें आप म्यूच्यूअल फंड से कम रुपए में निवेश कर सकते हो और अपना पोर्टफोलियो मैनेज कर सकते हो इसके लिए आपको किसी को भी पे नहीं करना होता है इसमें ट्रांसपेरेंसी भी ज्यादा होती है इसके अलावा ETFs टेक्स्ट फ्रेंडली होते हैं म्यूच्यूअल फंड्स के कंपेयर में इसमें रिस्क बहुत कम होता है क्योंकि इन्हें बहुत अच्छे से मैनेज किया जाता है 

उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको यह लेख पसंद आया होगा अगर यह लेख आपको पसंद आया तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं क्योंकि हम आपके लिए ऐसा ही ब्लॉक लिखते रहते हैं जिससे आपको शेयर मार्केट की पूरी जानकारी मिल सके तो आप शेयर मार्केट से रिलेटेड जानकारी और न्यूज़ को फॉलो करते हैं तो आप हमारे इस ब्लॉग को जरूर फॉलो करें धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Lakers sign Thomas Bryant Tom Brady hint at unretirement this year Kevin Durant trade Warriors stars Brooklyn Nets to sign T.J. Warren ‘Minions’ Fire With $110.5 Million debut