NPS क्या है और इसके फायदे क्या है

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक और नई पोस्ट में जिसमें हम आज समझेंगे कि नेशनल पेंशन स्कीम क्या होती है और इसके क्या क्या फायदे हैं और नेशनल पेंशन स्कीम के अकाउंट को कैसे ओपन किया जाता है

NPS क्या है

दोस्तों पेंशन का मतलब आप सभी को तो पता ही होगा जब कोई कर्मचारी एक आयु में आ जाता है जो 60 से ज्यादा हो जाती है तो सरकार उन्हें महीने का कुछ पैसे देती है जिससे उनका उस उम्र में गुजारा चलता है नेशनल पेंशन स्कीम एक सोशल सिक्योरिटी है जो कि सरकार के द्वारा बनाई गई है

यह पेंशन स्कीम सभी जगह के कर्मचारियों के लिए उपलब्ध है चाहे फिर वह सरकारी कर्मचारी हो या प्राइवेट कर्मचारी या किसी संस्था का कर्मचारी इसके अलावा कोई भी भारत में रहने वाला इस पेंशन स्कीम में अपना पैसा डाल सकता है 

इस स्कीम के अंदर लोगों को जॉब में रहते हुए पैसा डालते रहना होता है कुछ ऐसा अमाउंट जमा किया जाता है जो उनके रिटायरमेंट के समय में जो उन्हें महीने की पेंशन के रूप में मिलती रहती है अगर कोई कर्मचारी अपनी जॉब को बदलता भी है तो वह अगली नौकरी में भी इस पेंशन स्कीम को  रख सकता है

NPS क्या है
NPS क्या है

NPS में किन को निवेश करना चाहिए 

नेशनल पेंशन स्कीम उन लोगों के लिए सबसे अच्छी स्कीम है जो पहले से ही अपने रिटायरमेंट के लिए प्लान करना चाहते हैं और जो बिल्कुल भी रिस्क लेना नहीं चाहते जो लोग प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं वह अपनी महीने की तनखा में से एक छोटा सा अमाउंट जो कि ₹500 से शुरू हो जाती है इस राशि को एनपीएस में निवेश कर सकते हैं

 जिससे जब वह अपनी जॉब से रिटायर होंगे तो उन्हें हर महीने पेंशन के रूप में तो उन्हें एक फिक्स अमाउंट मिलते रहेगी जो कि उन्होंने ही अपने पेंशन स्कीम में पैसा निवेश किया था इसमें उनको निवेश किए गई राशि से ज्यादा राशि दी जाती है क्योंकि एनपीएस में जो राशि डाली जाती है उसे कहीं भी इन्वेस्ट कर दिया जाता है

Also Read – NSE और BSE में क्या अंतर है

Also Read – Insider Trading क्या होती है

जिससे हर साल 10 परसेंट से अधिक का ब्याज मिलता है और वह आपके एनपीएस अकाउंट में जुड़ जाता है

NPS के फायदे

  1. एनपीएस PFRDA यानी कि पेंशन फंड रेगुलेशन अंडर गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के अंदर रेगुलेट होता है तो इस तरह से यह बहुत ही ज्यादा सिक्योर है
  2.  एनपीएस अकाउंट को ऑनलाइन भी देखा जा सकता है जिससे आपको पता चलता रहता है कि आपके द्वारा निवेश किया गया पैसा जुड़ रहा है या नहीं और अभी तक कितनी राशि जमा हो चुकी है
  3. एनपीएस एक लोंग टर्म इन्वेस्टमेंट प्लान है एनपीएस में आपको लगभग 10 साल तक अपना पैसा रखना होता है इससे जो एनपीएस में निवेश कर रहा है उसे चक्रवर्ती ब्याज मिलता है 
  4. एनपीएस में जो पैसा निवेश किया जाता है उसे टैक्स में कुछ छूट मिल जाती है जिसे टैक्स की बचत होती है

NPS अकाउंट कैसे खोला जाता है

एनपीएस अकाउंट ओपन करने के 2 तरीके होते हैं ऑफलाइन और ऑनलाइन

ऑफलाइन – एनपीएस का ऑफलाइन अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले आपको POP यानी Point of presence ढूंढना होगा Point of presence बैंक भी हो सकता है आप अपने बैंक में भी ढूंढ सकते हैं बैंक में करने के लिए आपको कोई भी केवाईसी करने की आवश्यकता नहीं होती है सभी कार्यवाही होने के बाद जैसे ही आप

अपना पैसा निवेश करें जो कि ₹500 तक भी हो सकती है इसके बाद बैंक आपको PRAN भेजेगा जिसका मतलब होता है परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर और इसके साथ ही आपको इसका पासवर्ड भी मिल जाएगा जिससे आप कभी भी अपना एनपीएस अकाउंट को देख सकते हैं और इस प्रोसेस को कंप्लीट करने के लिए बैंक आपसे छोटी सी फीस लेगा 

ऑनलाइन – ऑनलाइन की मदद से आप अपना एनपीएस अकाउंट 30 मिनट में खुलवा सकते हैं आप enps.nsdl.com में जाकर अपना एनपीएस खाता खोल सकते हैं इस वेबसाइट की मदद से आप अपने नजदीकी इंटरनेट कैफे में जाकर भी अपना एनपीएस अकाउंट खुलवा सकते हैं या घर बैठे भी एनपीएस अकाउंट खोल सकते हैं 

5 thoughts on “NPS क्या है और इसके फायदे क्या है”

Leave a Comment