UPI Payment कैसे काम करती है

दोस्तों पिछले कुछ समय से भारत में कैशलैस इकोनामी बनाने के लिए कुछ स्टेप्स लिए जा रहे हैं और पांडेमिक की वजह से इसके रिक्वायरमेंट और ज्यादा बढ़ गई और कैशलैस इकोनामी बनाने के लिए भारत में जो सबसे बड़ा कदम उठाया गया है UPI ( Unified Payments Interface ) तो आज हम इसे अच्छे से समझेंगे

UPI क्या है

UPI मोबाइल फोन की ऐसी एप्लीकेशन है जो एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में तुरंत ही पैसे ट्रांसफर करने का काम करती है UPI आने से पहले जब भी किसी को पेमेंट करनी होती थी तो उन्हें बहुत सारी डिटेल्स डालने पढ़ती थी जैसे कि उनका बैंक अकाउंट नंबर आईएफएससी कोड इत्यादि

डिजिटल पेमेंट्स को बढ़ावा देने के लिए भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम ने सिंगल विंडो मोबाइल पेमेंट्स ऐप बनाया जिससे आपको पेमेंट करने के लिए बार-बार अपनी डिटेल्स नहीं डाली पड़ती इसी सिस्टम को हम कहते हैं UPI  इसके आ जाने से कैशलैस ट्रांजैक्शन में एक बहुत अच्छा उछाल आया क्योंकि इनको इस्तेमाल करना बहुत ही आसान और सिंपल है और साथ-साथ समय की भी बचत होती है

क्योंकि यह एप्लीकेशन मोबाइल में ही चलता है इसलिए ज्यादा लोगों तक पहुंचाना इसे आसान हो गया है UPI को भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया आरबीआई हैंडल करता है आपको आरबीआई के बारे में तो पता ही होगा क्योंकि यह भारत का सेंट्रल बैंक है और दूसरे बैंकों को रेगुलेट करता है

UPI Payment कैसे काम करती है
UPI Payment कैसे काम करती है

UPI कैसे काम करता है

आप लोगों में जिन लोगों ने नेट बैंकिंग का इस्तेमाल किया होगा तो आप लोगों को पता होगा ऑनलाइन पेमेंट करते समय IMPS यानी इमीडिएट पेमेंट सर्विस  का ऑप्शन होता है जिस से पेमेंट तुरंत हो जाती है UPI मैं इसी का इस्तेमाल किया जाता है इसमें पेमेंट का प्रोसेस बिल्कुल ही सिंपल है

UPI के जरिए पेमेंट करने के लिए यूजर एप्लीकेशन में लॉगिन करता है और पैसे भेजने के लिए सेंड मनी वाला ऑप्शन सेलेक्ट करना होता है इसमें जिसको आप पैसे भेज रहे हैं उसकी आईडी डालनी होती है जैसे कि उसका मोबाइल नंबर डालकर या उसका क्यूआर कोड स्कैन कर के राशि डाल दी जाती है इसके बाद आपको यह पूछा जाता है कि आपको कौन से अकाउंट से पैसे भेजना है उसे आप सिलेक्ट करते हैं और उसके बाद उसमें पिन नंबर डाला जाता है और बस आसान तरीके से पेमेंट हो जाती है

Also Read – Index Funds क्या होता है

Also Read – Insider Trading क्या होती है

पेमेंट भेजने के बाद उसका कन्फर्मेशन मैसेज भी मिल जाता है तो आपने देखा यूपीआई से पेमेंट करना बहुत ही आसान होता है  यूपीआई का इस्तेमाल वह लोग भी कर सकते हैं जिनके पास स्मार्टफोन नहीं है इसके लिए NPCI नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने एक अल्टरनेटिव निकाला हुआ है  जिसका नाम है AEPS आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम

इसमें यह होता है कि अगर कोई इंसान पेमेंट करना चाहता है तो वह माइक्रो एटीएम में अपना आधार नंबर डालकर फिंगरप्रिंट स्कैनर कर कर पैसे भेज सकता है या फिर उसे माइक्रो एटीएम से पैसे निकालना है तो वह भी ऐसे ही कर सकता है इसका लाने का यह मकसद है कि भारत सरकार सभी को बैंकिंग के माध्यम से जुड़ना चाहती है लेकिन भारत के हर गांव में बैंक की एक ब्रांच खोलना पॉसिबल नहीं है तो इसलिए सरकार ने गांव में माइक्रो एटीएम लगवा दी

ताकि वह लोग भी लेन-देन बड़े ही आसानी से कर पाए इस सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए आपका आधार कार्ड  आपके बैंक खाते से लिंक होना चाहिए

UPI के फायदे

इसके जरिए आप एक ही एप्लीकेशन से अपने बहुत सारे बैंक खातों को जोड़ सकते हो जब आप इसके जरिए पेमेंट करते हैं तो आपको अपने बैंक खाते को  इस्तेमाल करने का ऑप्शन दिया जाता है कि आप कौन से बैंक अकाउंट से पैसे ट्रांसफर करना चाहते हैं

यूपीआई के जरिए आप बहुत आसानी से और बहुत तेजी से पेमेंट कर सकते हैं क्योंकि इसमें आपको बहुत ज्यादा डिटेल्स भरनी नहीं होती है यूपीआई के जरिए जब आप पेमेंट करते हैं तो इसमें आपकी पर्सनल जानकारी नहीं जाती  जैसे कि अकाउंट नंबर, आधार नंबर और आदि यूपीआई के जरिए आप बिल पेमेंट भी कर सकते हैं जैसे बार कोड को स्कैन करके

2 thoughts on “UPI Payment कैसे काम करती है”

Leave a Comment